जून में औद्योगिक उत्पादन में सात फीसदी की बढ़ोत्तरी, पांच महीने में सबसे अधिक

नई दिल्ली:

 

देश का औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) जून महीने में सात प्रतिशत बढ़ा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार त्यौहारी सीजन से पहले टिकाऊ उपभोक्ता सामान तथा पूंजीगत सामान का उत्पादन बढ़ने की वजह से औद्योगिक उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज हुई है।

 

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा आज जारी आंकड़ों के अनुसार मई महीने के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े को ऊपर की ओर संशोधित कर 3.9 प्रतिशत कर दिया गया है। पहले इसके 3.2 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया था। जून, 2017 में औद्योगिक उत्पादन 0.3 प्रतिशत घटा था।

 

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून की पहली तिमाही में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 5.2 प्रतिशत रही है। इससे पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में औद्योगिक उत्पादन 1.9 प्रतिशत बढ़ा था। 23 उद्योग समूहों में से 19 ने इस दौरान सकारात्मक वृद्धि दर्ज की। कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक्स खंड का उत्पादन 44 प्रतिशत बढ़ा।

 

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि जून के आईआईपी वृद्धि के आंकड़े शानदार रहे हैं। आईआईपी की वृद्धि दर सात प्रतिशत रही, जबकि पूंजीगत सामान क्षेत्र का उत्पादन 9.6 प्रतिशत बढ़ा।

 

जून में टिकाऊ उपभोक्ता सामान क्षेत्र का उत्पादन 13.1 प्रतिशत बढ़ा। एक साल पहले समान महीने में यह 3.5 प्रतिशत घटा था। समीक्षाधीन महीने में पूंजीगत सामान क्षेत्र का उत्पादन 9.6 प्रतिशत बढ़ा, जबकि एक साल पहले समान महीने में यह 6.1 प्रतिशत बढ़ा था।

 

औद्योगिक उत्पादन में 77.63 प्रतिशत का भारांश रखने वाले विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन जून में 6.9 प्रतिशत बढ़ा। एक साल पहले समान महीने में इस क्षेत्र का उत्पादन 0.7 प्रतिशत घटा था।

 

समीक्षाधीन महीने में बिजली क्षेत्र का उत्पादन 8.5 प्रतिशत बढ़ा। जून, 2017 में इस क्षेत्र का उत्पादन 2.1 प्रतिशत बढ़ा था। इसी तरह खनन क्षेत्र का उत्पादन 6.6 प्रतिशत बढ़ा। जून, 2017 में इस क्षेत्र का उत्पादन 0.1 प्रतिशत बढ़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *