बी वी आर सुब्रह्मण्यम जम्मू-कश्मीर के नये मुख्य सचिव बनाए गए

श्रीनगर :

छत्तीसगढ़ कैडर के 1987 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा आईएएस अधिकारी बी वी आर सुब्रह्मण्यम को आज बी बी व्यास की जगह जम्मू कश्मीर का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया।

इससे पूर्व मंगलवार की शाम कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने छत्तीसगढ़ कैडर के 1987 बैच के आईएएस अधिकारी सुब्रह्मण्यम की सेवाएं जम्मू – कश्मीर सरकार को देने को अपनी मंजूरी दी थी। आईएएस सुब्रमण्यम पिछले 3 साल से आपने होम कैडर छत्तीसगढ़ में होम सेक्रटरी के तौर पर सेवा दे रहे थे।

व्यास को पिछले महीने एक वर्ष का सेवा विस्तार दिया गया था और अब उन्हें राज्यपाल एन एन वोहरा का सलाहकार नियुक्त किया गया। पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय कुमार राज्यपाल के दूसरे सलाहकार होंगे।

व्यास को पिछले महीने राज्य के मुख्य सचिव के पद पर 31 मई 2018 के आगे एक साल का सेवा विस्तार दिया गया था। कार्मिक मंत्रालय ने व्यास को विस्तार देने के लिए सेवा नियमों में संशोधन भी किया था। इस संशोधन के तहत ही 60 वर्ष की आयु के बाद उन्हें सेवा विस्तार दिया गया था। इससे पहले मुख्य सचिव पद पर 60 वर्ष आयु तक का ही कोई व्यक्ति नियुक्त किया जा सकता था। व्यास पिछले साल नवंबर में ही 60 वर्ष के हो गए थे। उन्हें तब से अभी तक दो बार सेवा विस्तार दिया गया, ताकि वह मई अंत तक मुख्य सचिव के तौर पर नियुक्त रह पाएं।

जम्मू कश्मीर की पीडीपी – भाजपा गठबंधन सरकार कल गिरने के बाद आज राज्यपाल शासन लागू हुआ। राज्य विधानसभा को निलंबित कर दिया गया है।

सुब्रह्मण्यम अभी छत्तीसगढ़ में अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) हैं। सुब्रह्मण्यम को आंतरिक सुरक्षा मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है। वर्ष 2004-2008 के बीच उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के निजी सचिव के तौर पर भी अपनी सेवाएं दी हैं। सुब्रह्मण्यम मई 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के समय पीएमओ में ही थे। वह मार्च 2015 तक पीएमओ में ही रहे और फिर वह अपने कैडर वाले प्रदेश छत्तीसगढ चले गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *