जमुई : रांची जा रही पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में डकैती, लाखों की लूट

उत्तम आनंद वत्स की रिपोर्ट

 

जमुई :

 

किउल-झाझा रेलखंड पर बेखौफ अपराधियों ने एक बार फिर ट्रेन लूट की घटना को अंजाम दिया है। अपराधियों ने मंगलवार को 18622 डाउन पटना-हटिया पाटलिपुत्र एक्सप्रेस को कुंदर हॉल्ट पर आधे करीब 40 मिनट से अधिक समय तक खड़ा कर जम कर लूटपाट की है। इस दौरान अपराधियों ने ट्रेन की ए1 और ए 2 एसी बोगी के साथ ही अन्य कई बोगियों को भी निशाना बना कर लूटपाट की है।

 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, पटना से चलकर रांची जानेवाली एक्सप्रेस ट्रेन पटना रांची पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में डकैतों ने एसी 1 समेत स्लीपर कोच के तीन बोगियों में जमकर तांडव मचाया है। डकैतों ने ट्रेनों में सफर कर रहे यात्रियों से लाखों रुपये लूट लिए। जबकि इस दौरान सफर कर रहे यात्रियों से मारपीट की भी खबर है। लगभग 15 से 20 के संख्या मे हरबे हथियार के साथ थे लुटेरे। यात्री के साथ की पिटाई, हथियार के बल पर लगभग आधे घंटे तक की लूटपाट, टीटीई के साथ भी की मारपीट।

 

 

डकैती के क्रम में रेलकर्मियों को भी नहीं बख्शा और उनसे मारपीट भी की गई। घटना के बाद पीड़ित यात्रियों ने जमकर रेलवे सुरक्षा के प्रति नाराजगी दिखलाई है।

 

 

ट्रेन में यात्रा कर रहे यात्रियों ने बताया कि ट्रेन 19:11 बजे भलुई हॉल्ट से खुली तथा कुंदर हॉल्ट के समीप पहुंचते ही पहले ट्रेन को किसी ने वैक्यूम कर खड़ा किया। इसके बाद 25 की संख्या में हथियारबंद अपराधी ट्रेन में चढ़े। इसमें से कुछ महिलाएं भी शामिल थी। उनके पास कुल्हाड़ी, भुजाली, डंडा समेत अन्य हथियार भी थे। इस दौरान अपराधियों ने मुख्य रूप से ट्रेन की एसी बोगी में यात्रा कर रहे लोगों को निशाना बनाया तथा उनके साथ मारपीट भी और लूटपाट भी की। इसमें कई यात्री चोटिल भी हो गये। जिसके कारण करीब 40 मिनट बाद ट्रेन कुंदर हॉल्ट से खुली और 20:25 बजे जमुई स्टेशन पर आकर रुकी।

 

घायल लोगों के उपचार के लिए चिकित्सक उपलब्ध नहीं होने के कारण यात्रियों ने हंगामा भी किया। इसके बाद 20:25 बजे ट्रेन को खोल दिया गया। वैसे लूटपाट की घटना में महिलाओं के शामिल होने से लोग इसे नक्सली घटना होने से भी इन्कार नहीं कर रहे।

 

 

जमुई- हटिया-पटना पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में जिस दौरान अपराधी ट्रेन के एसी बोगी में तांडव मचा रहे थे, इस दौरान ट्रेन के अन्य हिस्सों में लोगों में डर इस कदर फैल चुका था कि लोगों ने खुद को एयरटाइट कर लिया था। ट्रेन की एक अन्य बोगी में यात्रा कर रहे एक अन्य यात्री ने बताया कि ट्रेन रुकने के बाद हमलोगों को सूचना मिली थी कि ट्रेन में लूटपाट हो रही है। जिसके बाद लोग डर गए। लोगों में डर इस कदर फैल चुका था कि लोगों की सांसे रुकी हुई थी। एक अन्य यात्री के मुताबिक, हमने अपने कोच के दरवाजे और खिड़कियां पूरी तरह से बंद कर ली। एक-एक मिनट मानो एक-एक घंटे की तरह बीत रहा था। हमने इसकी सूचना पुलिस को भी दी पर पुलिस नहीं आयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *