तीस घंटे बाद बोरवेल से सुरक्षित बाहर निकाली गई तीन साल की सन्नो

मुंगेर/ पटना:

 

बिहार के मुंगेर जिले में मंगलवार शाम करीब चार बजे एक बोरवेल में गिरी तीन साल की एक बच्ची तकरीबन 30 घंटे तक चले जद्दोजहद के बाद बुधवार शाम सकुशल बाहर निकाल ली गयी।

 

जिले में कोतवाली थाना क्षेत्र के मुर्गीयाचक मोहल्ला में एक घर के आंगन में समरसेबुल बोरिंग के लिए किए गए 165 फुट बोरवेल में सन्नो नाम की यह बच्ची गिर गयी थी। वह अपने ननिहाल आई हुई थी और खेलने के दौरान वह बोरवेल में गिर गई थी।

 

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रात 9.45 बजे सन्नो को बोरवेल से सकुशल निकाल लिए जाने पर खुशी एवं संतोष व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही परिजनों एवं बचाव दल के तमाम सदस्यों को भी बधाई दी है।

 

मुख्यमंत्री ने बचाव में शामिल आपदा प्रबंधन विभाग, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ एवं जिला प्रशासन की टीम को धन्यवाद देते हुये कहा कि विपरीत परिस्थितियों के बाद भी सन्नो का बोरवेल से सकुशल निकाला जाना बेहतर टीम समन्वय का परिणाम है। मुख्यमंत्री ने सन्नो को बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है और उसके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

 

सन्नो को बोरवेल से निकाले जाने के बाद वहां मौजूद चिकित्सकों की टीम उसे एक एम्बुलेंस से सदर अस्पताल ले गए और वहां उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया है। पुलिस अधीक्षक गौरव मंगला ने बताया बच्ची के बोरवेल में गिरने के बाद जिला पुलिस और प्रशासन को सूचना मिलने पर बचाव कार्य तुरंत शुरू किया गया था। 45 फीट गहराई पर बोरवेल में फंसी सन्नो को सिलेंडरों और पाइपों की मदद से ऑक्सीजन प्रदान किया गया।

 

भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने बच्ची को बोरवेल से निकालने के लिए आपदा प्रतिक्रिया सेवाओं को बधाई दी। शाह ने एक ट्वीट कर कहा कि एनडीआरएफ और राज्य आपदा मोचन बल के कर्मियों ने उसे बाहर निकालने के लिए घंटों अथक कार्य किया। उन्होंने बच्ची की कुशलता की कामना भी की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *