नहीं रहे जेठालाल के जिगरी दोस्त, तारक मेहता के डॉ. हाथी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

मुंबई :

मशहूर टेलीविजन शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में डॉ. हाथी के नाम से प्रख्यात कवि कुमार आजाद का दिल का दौरा पड़ने से आज निधन हो गया। डॉ. हाथी लंबे समय से इस शो में जुड़े हुए थे। शो में उनका किरदार काफी पसंद किया जा रहा था। जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के मीरा रोड वॉकहार्ट हॉस्पिटल में उनका हार्टअटैक से निधन हो गया है।

 

कवि कुमार की हुई निधन की जानकारी आरजे आलोक ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर दी। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘महाराष्ट्र के मीरा रोड वॉकहार्ट हॉस्पिटल में डॉ. हंसराज हाथी का हार्टअटैक से निधन हो गया है।’

 

जैसे ही डॉ. हाथी के निधन की खबर लगी तारक मेहता शो की शूटिंग कैंसिल कर दी गई। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो साल 2010 में कवि कुमार आजाद उर्फ डॉ. हाथी ने अपना 80 किलो वजन सर्जरी से कम किया था। इस सर्जरी के बाद उन्हें रोजाना की जिंदगी में काफी आसानी हो गई थी।

 

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को 10 साल पूरे हो चुके हैं। जुलाई 2008 से शुरू हुआ ये सीरियल टीवी की हिस्ट्री में सबसे लंबा चलने वाला पांचवा शो है। इस शो के अबतक करीब ढाई हजार एपिसोड टेलिकास्ट हो चुके हैं।

 

डॉ हाथी से जुड़ी दस बातें —

 

1. डॉक्टर हंसराज हाथी का किरदार निभाने वाले कवि कुमार आजाद मूलरूप से बिहार के सासाराम स्थित गौरक्षणी के रहने वाले थे।

 

2. कवि कुमार को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था. जब वे युवा हुए तो उनका शरीर बेढब तरीके से बढ़ने लगा. इसके बाद भी उन्होंने एक्टिंग के शौक को मरने नहीं दिया।

 

3. एक्टिंग के साथ ही कवि कुमार को कविताएं लिखने का भी शौक था।

 

4. महिला कॉमेडियन टुनटुन एक बार बिहार के सासाराम आईं तो उन्होंने कवि कुमार को देखते ही भविष्यवाणी कर दी थी कि वह एक्टर बनेंगे। यह बात बाद में सच साबित हुई।

 

5. कवि आजाद ने दिल्ली में अभिनय की ट्रेनिंग ली. इसके बाद वो मुंबई पहुंचे जहां उन्हें कदम कदम पर संघर्ष करना पड़ा।

 

6. कवि आजाद जब घर से निकले तो उनकी जेब में फूटी कौड़ी नहीं थी. घर की हालत ठीक नहीं थी। पिताजी को व्यापार में नुकसान हो गया था। घर वाले एक्टिंग में जाने के खिलाफ थे. इस वजह से उन्हें कई रात मुंबई की सड़कों पर गुजारनी पड़ी।

 

7. साल 2000 में उन्हें फिल्म मेला में सुपरस्टार आमिर खान के साथ काम करने का मौका मिला। इसके अलावा उन्होंने फंटूश, ड्यूड्स इन द टेन्थ सेंचुरी जैसी फिल्मों में भी काम किया है।

 

8. साल 2008 में टीवी सीरियर तारक मेहता का उल्टा चश्मा में निर्मल सोनी के डॉक्टर हाथी का किरदार छोड़ने के बाद कवि आजाद को यह रोल मिल गया।

 

9. कवि आजाद निजी जिंदगी में बेहद भावुक और संवेदनशील इंसान थे।

 

10. छुट्टियों के दिनों में कवि कुमार आजाद जरूरतमंद बच्चों के साथ वक्त गुजारते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *