वीरप्पन का सफाया करने वाले टॉप कॉप जम्मू-कश्मीर राज्यपाल के सलाहकार बनाए गए

श्रीनगर :

कभी चंदन तस्कर वीरप्पन के आतंक का खात्मा करने वाले तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय कुमार को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा का नया सलाहकार नियुक्त किया गया है। जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव रहे बी बी व्यास राज्यपाल श्री वोहरा के दूसरे सलाहकार होंगे।

 

आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, व्यास को पिछले महीने एक वर्ष का सेवा विस्तार दिया गया था और अब उन्हें राज्यपाल एन एन वोहरा का सलाहकार नियुक्त किया गया। पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय कुमार राज्यपाल के अन्य सलाहकार होंगे।

 

तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के पुलिस अधिकारी विजय कुमार इससे पहले भी 1998-2001 में भी सीमा सुरक्षा बल के इंस्पेक्टर जनरल के रूप में कश्मीर में अपनी सेवा दे चुके हैं। कश्मीर में ये वो दौर था जब बीएसएफ राज्य में आतंकवाद विरोधी अभियान में सक्रिय रूप से लगी हुई थी।

 

अक्टूबर 2004 में कुमार ने उस वक्त दुनिया भर में नाम कमाया जब इनके नेतृत्व में स्पेशल टास्क फोर्स ने तमिलनाडु से चंदन तस्कर विरप्पन का सफाया करने में सफलता पाई थी। अपने खुंखार अभियान की वजह से चर्चा में आए विजय कुमार को विरप्पन के खात्मे के बाद 2010 में उस वक्त सीआरपीएफ की कमान सौंपी गई जब दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के 75 जवानों की हत्या कर दी थी।

 

दक्षिण भारत में कभी दहशत का पर्याय बन चुके विरप्पन का राज तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल में तकरीबन 6000 स्कावयर किलोमीटर के जंगलों में पसरा हुआ था। तकरीबन दो दशकों दो सौ हाथियों का शिकार करने वाले वीरप्पन ने करोड़ों रुपये मूल्य के हाथी दांत की तस्करी की थी और अपने इस अवैध साम्राज्य को खड़ा करने में उसने तकरीबन 180 लोगों, जिसमें अधिकांश पुलिस और वनकर्मी थे, को मौत के घाट उतार दिया था। कुमार के नेतृत्व में एसटीएफ ने वीरप्पन के खात्मे के लिए ऑपरेशन ककून लांच किया था। कुमार ने वीरप्पन के खात्मे पर एक पुस्तक भी लिखी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *